सायरी- एहसास दिल की


1) एहसास मेरे प्यार की एक दिन तुझे हो जाएगा।

    मेरे ही ख्याल में डूबना दूर जाएंगे तो बहुत पछताएगा।


2) धड़कन बोलती है तेरा नाम,

    सांस भी तेरे नाम की चलती है शुभ शाम।

    प्यार से अपना बना लो,

    अब तो हर तरफ दिखे तेरा ही छवि मेरी जान।


3) तुझे अपना बनाने की अरमान जगी दिल में,

    कहां छिपा बैठा है किसी बिल में।

    एक झलक तो दिखला ,

    सजा लूंगी तुझे अपने महफिल में।


4) देखते रहते है तेरी दहलीज में,

    झांकते रहते है अपने दिल के महफिल में।

    एक बार अपना बना के देखो,

    छुपा के रखेंगे अपने दिल की दहलीज में।

               🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹




0 Comments:

कवित्री प्रेमलता ब्लॉग एक कविता का ब्लॉग है जिसमे कविता, शायरी, poem, study guide से संबंधित पोस्ट मिलेंगे
और अधिक जानकारी के लिए हमसे जुड़े रहे।
Email id
Sahupremlata191@gmail.com